Tejas: light combat aircraft are in Demand? दुनिया भर के आसमान में दहाड़ेगा अपना ‘तेजस’ Tejas Fighter Jet and US

0
Share This Click On Below

इस भारतीय विमान ने चीन, रूस और दक्षिण कोरिया के विकसित विमानों से मुकाबला किया और अपनी खूबियों की वजह से सभी विमानों पर छा गया Tejas: light combat aircraft are in Demand

Tejas is fully capable of carrying a load of eight to nine tonnes सरकार ने शुक्रवार को लोकसभा को सूचित किया था कि मलेशिया 18 तेजस लड़ाकू विमान खरीद रहा है, जबकि अमेरिका, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, मिस्र, इंडोनेशिया और फिलीपींस ने भी हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) की खरीद में रुचि दिखाई है।

पिछले साल, भारत सरकार ने 2023 तक वितरित किए जाने वाले 83 तेजस जेट के निर्माण के लिए राज्य के स्वामित्व वाली हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) को 48,000 करोड़ रुपये का अनुबंध दिया था।

Hindustan Aeronautics Limited

Hindustan Aeronautics Limited is an Indian state-owned aerospace and defence company, headquartered in Bengaluru, India. Established on 23 December 1940, HAL is one of the oldest and largest aerospace and defence manufacturers in the world today

स्वदेशी तेजस फाइटर जेट हाल ही में मलेशिया की पहली पसंद बनने के बाद चर्चा में था। ।

HAL Tejas

The HAL Tejas is an Indian, single engine, delta wing, light multirole fighter designed by the Aeronautical Development Agency in collaboration with Aircraft Research and Design Centre of Hindustan Aeronautics Limited for the Indian Air Force and Indian Navy.

रक्षा विशेषज्ञ कमर आगा ने कहा कि सुखोई की तुलना में तेजस काफी हल्का है।

Tejas: light combat aircraft are in Demandतेजस आठ से नौ टन भार ढोने में पूरी तरह सक्षम है। यह सुखोई जितने हथियारों और मिसाइलों के साथ उड़ सकता है, जिसका वजन अधिक है। इसका सबसे बड़ा फायदा इसकी गति है। हल्का होने के बावजूद इसकी गति बेजोड़ है। ये विमान कर सकते हैं 52,000 फीट की ऊंचाई पर ध्वनि की गति से तेज यानी मच 1.6 से 1.8 तक उड़ें।”

Tejas: light combat aircraft are in Demand

आगा ने कहा: “तेजस मार्क -1 ए सुखोई -30 एमकेआई लड़ाकू विमान से भी महंगा है क्योंकि इसमें कई नवीनतम उपकरण जोड़े गए हैं। उदाहरण के लिए, इसमें इज़राइल में रडार विकसित किया गया है। इसके अलावा, विमान में स्वदेशी रूप से विकसित एक भी है। रडार। यह बहुत हल्का है और इसकी लड़ाकू शक्ति भी बेहतर है। यह एक बहुक्रियाशील लड़ाकू विमान है।”

तेजस को महत्वपूर्ण संचालन क्षमता के लिए एक सक्रिय इलेक्ट्रॉनिक रूप से स्कैन किए गए रडार से सुसज्जित किया गया है। यह हवा में ईंधन भर सकता है और फिर से युद्ध के लिए तैयार हो सकता है। यह दूर से ही दुश्मन के विमानों को निशाना बना सकता है। इतना ही नहीं यह दुश्मन के राडार को चकमा देने की क्षमता भी रखता है।

रक्षा विशेषज्ञ ने कहा, “ऐसे समय में जब भारतीय वायुसेना के बेड़े में लड़ाकू विमानों की कमी है, तेजस का स्वागत किया जाना चाहिए।”

तेजस ने जनवरी 2001 में अपनी पहली उड़ान भरी थी। विमान को 2016 में भारतीय वायु सेना के स्क्वाड्रन में शामिल किया गया था।

अपनी 4 खूबियों की वजह से बाकी फाइटर जेट अलग है तेजस
इस वक्त भारतीय वायु सेना के बेड़े में जो टॉप फाइटर जेट हैं उनमें सुखोई Su-30MKI, राफेल, मिराज, MiG-29 और तेजस का नाम शामिल है। तेजस अपनी इन खूबियों की वजह से बाकी के चारों फाइटर जेट से अलग और खास है…

पहला: इस विमान के 50% कलपुर्जे यानी मशीनरी भारत में ही तैयार हुई है।

दूसरा: इस विमान में मॉडर्न टेक्नोलॉजी के तहत इजराइल की EL/M-2052 रडार को लगाया गया है। इस वजह से तेजस एक साथ 10 लक्ष्यों को ट्रैक कर उन पर निशाना साधने में सक्षम है।

तीसरा: बेहद कम जगह यानी 460 मीटर के रनवे पर टैकऑफ करने की क्षमता।

चौथा: यह फाइटर जेट इन चारों में ही सबसे ज्यादा हल्का यानी सिर्फ 6500 किलो का है।

आखिर एयरफोर्स को तेजस की जरूरत क्यों पड़ी?
पिछले पांच दशकों में 400 से ज्यादा MiG-21 विमानों के क्रैश होने की वजह से भारत सरकार इसे रिप्लेस करना चाह रही थी। इसी MiG-21 की जगह लेने में कामयाब हुआ तेजस। इस विमान का वेट कम होने की वजह से यह समुद्री पोतों पर भी आसानी से लैंड और टेक ऑफ कर सकता है। यही नहीं इसकी हथियार ले जाने की क्षमता MiG-21 से दोगुना है। स्पीड की बात करें तो राफेल से 300 किलोमीटर प्रति घंटा ज्यादा रफ्तार तेजस की है।

What Tejas is famous for?

Image result for Tejas

It is the smallest and lightest in its class of contemporary supersonic combat aircraft. The Tejas is the second supersonic fighter developed by HAL after the HAL HF-24 Marut. The Tejas achieved initial operational clearance in 2011 and final operational clearance in 2019.

Which country will buy Tejas?

New Delhi: India has offered to sell 18 light-combat aircraft (LCA) “Tejas” to Malaysia, the defence ministry said on Friday, adding that Argentina, Australia, Egypt, the United States, Indonesia, and the Philippines were also interested in the single-engine jet.

Is Tejas better than F 16?

Image result

The F16 aircraft has a top speed of 1,317 mph, or around 2,120kph. The F16 has a range of 4,220 kilometres and a ceiling of 50,000 feet. Tejas Mark 2 has a range of 2,500 kilometres and can reach a height of 56,758 feet.

Who founded Tejas?

Sanjay Nayak

History. Founded in 2000 by Sanjay Nayak with initial funding from Gururaj Deshpande.

What does Tejas mean in Indian?

Indian, Sanskrit. Strength; courage; valour; brilliance; splendour. Also means ‘sharp’ or ‘the point or top of a flame’

Which generation is Tejas?

Image result

4.5 generation

The LCA Tejas is an indigenously developed 4.5 generation fighter aircraft developed and made in India by Hindustan Aeronautics Limited (HAL) and is currently being deployed by the Indian Air Force.

Share This Click On Below

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from naukarijobnj.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

NVS Recruitment 2024: 1377 Non-Teaching Posts – Official Online Application Link Active UPSC CSE Prelims 2024 Postponed: New Dates and How to Prepare New iPhone 16 Leak Reveals Apple’s Stunning Design Decision LIC की इस Policy ने मचाया बवाल: 45 रुपये निवेश पर 25 लाख रिटर्न AP TET Hall Ticket 2024: Download Yours NOW!